Slokams on Saraswathi devi


Slokams on Saraswathi devi taught by Sri Govinda Damodara Swamigal. Some you may know. Some others you may learn.

सरस्वती नमस्तुभ्यं, वरदे कामरूपिणी । विद्यारम्भं करिष्यामि सिद्धिर्भवतु मे सदा ||

इन्दुकुन्द तुषाराभा भक्तचित्तानुवर्तिनी | वाणी मे रसनारङ्गे करोतु नटनं सदा ||

दोर्भिर्युक्ता चतुर्भिः स्फटिकमणिनिभैरक्षमालां दधाना
हस्तेनैकेन पद्मं सितमपि च शुकं पुस्तकं चापरेण ।
भासा कुन्देन्दुशङ्खस्फटिकमणिनिभा भासमानाऽसमाना ।
सा मे वाग्देवतेयं निवसतु वदने सर्वदा सुप्रसन्ना ॥

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना ।
या ब्रह्माच्युतशङ्करप्रभृतिभिर्देवैस्सदा पूजिता
सा मां पातु सरस्वती भगवती निश्शेषजाड्यापहा ॥

कर्मसु आत्मोचितेषु स्थिरतरधिषणां देहदार्ढ्यं तदर्थं
दीर्घं चायु: यशश्च त्रिभुवनविदितं पापमार्गाद्विरक्तिम् ।
सत्सङ्गं सत्कथायाः श्रवणमपि सदा देवि दत्वा कृपाब्धे
विद्यां शुद्धां च बुद्धिं कमलजदयिते सत्वरं देहि मह्यम् ॥

विद्ये विधातृविषये कात्यायनि कालि कामकोटिकले ।
भारति भैरवि भद्रे शाकिनि शाम्भवि शिवे स्तुवे भवतीम् ॥

विमलपटी कमलकुटी पुस्तकरुद्राक्षशस्तहस्तपुटी ।
कामाक्षि पक्ष्मलाक्षी कलितविपञ्ची विभासि वैरिञ्ची ॥

ஸரஸ்வதீ நமஸ்துப்⁴யம்ʼ, வரதே³ காமரூபிணீ . வித்³யாரம்ப⁴ம்ʼ கரிஷ்யாமி ஸித்³தி⁴ர்ப⁴வது மே ஸதா³ ||

இந்து³குந்த³ துஷாராபா⁴ ப⁴க்தசித்தானுவர்தினீ | வாணீ மே ரஸனாரங்கே³ கரோது நடனம்ʼ ஸதா³ ||

தோ³ர்பி⁴ர்யுக்தா சதுர்பி⁴𑌃 ஸ்ப²டிகமணினிபை⁴ரக்ஷமாலாம்ʼ த³தா⁴னா
ஹஸ்தேனைகேன பத்³மம்ʼ ஸிதமபி ச ஶுகம்ʼ புஸ்தகம்ʼ சாபரேண .
பா⁴ஸா குந்தே³ந்து³ஶங்க²ஸ்ப²டிகமணினிபா⁴ பா⁴ஸமானா(அ)ஸமானா .
ஸா மே வாக்³தே³வதேயம்ʼ நிவஸது வத³னே ஸர்வதா³ ஸுப்ரஸன்னா ..

யா குந்தே³ந்து³துஷாரஹாரத⁴வலா யா ஶுப்⁴ரவஸ்த்ராவ்ருʼதா
யா வீணாவரத³ண்ட³மண்டி³தகரா யா ஶ்வேதபத்³மாஸனா .
யா ப்³ரஹ்மாச்யுதஶங்கரப்ரப்⁴ருʼதிபி⁴ர்தே³வைஸ்ஸதா³ பூஜிதா
ஸா மாம்ʼ பாது ஸரஸ்வதீ ப⁴க³வதீ நிஶ்ஶேஷஜாட்³யாபஹா ..

கர்மஸு ஆத்மோசிதேஷு ஸ்தி²ரதரதி⁴ஷணாம்ʼ தே³ஹதா³ர்ட்⁴யம்ʼ தத³ர்த²ம்ʼ
தீ³ர்க⁴ம்ʼ சாயு: யஶஶ்ச த்ரிபு⁴வனவிதி³தம்ʼ பாபமார்கா³த்³விரக்திம் .
ஸத்ஸங்க³ம்ʼ ஸத்கதா²யா𑌃 ஶ்ரவணமபி ஸதா³ தே³வி த³த்வா க்ருʼபாப்³தே⁴
வித்³யாம்ʼ ஶுத்³தா⁴ம்ʼ ச பு³த்³தி⁴ம்ʼ கமலஜத³யிதே ஸத்வரம்ʼ தே³ஹி மஹ்யம் ..

வித்³யே விதா⁴த்ருʼவிஷயே காத்யாயனி காலி காமகோடிகலே .
பா⁴ரதி பை⁴ரவி ப⁴த்³ரே ஶாகினி ஶாம்ப⁴வி ஶிவே ஸ்துவே ப⁴வதீம் ..

விமலபடீ கமலகுடீ புஸ்தகருத்³ராக்ஷஶஸ்தஹஸ்தபுடீ .
காமாக்ஷி பக்ஷ்மலாக்ஷீ கலிதவிபஞ்சீ விபா⁴ஸி வைரிஞ்சீ ..



Categories: Audio Content

Tags:

What do you think?

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: